Essay On Blood Donation In Hindi

Speech on Blood Donation in Hindi

Essay on Raktadan 

रक्तदान जीवनदान है आपके द्वारा दिया गया रक्त कई जिन्दगीओं को बचा जाता है। असली खूनदान की अहमियत का हमें उस समय पता चलता है जब हमारा कोई अपना खून के लिए संघर्ष कर रहा हो उस वक्त हमें खूनदान की असली कीमत का पता चलता है। खूनदान से केवल आप मरीज को ही नहीं नया जीवन देते बल्कि उसके परिवार को भी खुशियां दान में देते हैं। खूनदान से आपको ऐसी ख़ुशी की अनुभूति होगी के आप बयान तक नहीं कर पाओगे।

दोस्तों दुर्घटना जा बीमारी का शिकार हम में से कोई भी हो सकता है हम एक शिक्षित समाज के नागरिक हैं जो अपने साथ -साथ दूसरों की भलाई के बारे में भी सोचते हैं इसीलिए इस महान कार्य में हमें अपना योगदान अवश्य देना चाहिए ताकि खून से पीड़ित लोगों को एक नया जीवन दान मिल सके।

बहुत से लोग अक्सर यह सोचते रहते हैं के खूनदान (Blood Donation ) से उनके शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है हम आपको बता दें के यह आप बिल्कुल गलत सोच रहे हैं बल्कि खूनदान करने से तो आपको भी बहुत सारे फायदे होंगे जैसे हार्ट अटैक की अधिक समस्या खून का गाढ़ा होना होता है और जब आप रक्तदान करते हो तो आपका खून भी पतला हो जाता है जिससे आप दिल से सबंधित बिमारियों से बचे रहेंगे तथा आपका दिल स्वास्थ्य रहेगा।

विशेषज्ञों के मुताबिक 18 वर्ष से 65 वर्ष तक का कोई भी स्वास्थ्य इंसान और जिसका वजन लगभग 45 किलोग्राम से अधिक हो तीन महीने के अंतराल के बाद रक्तदान कर सकता है। रक्तदान कोई मुश्किल कार्य नहीं होता बल्कि इससे शरीर को कोई नुक्सान भी नहीं पहुंचता और ना ही किसी प्रकार की कमज़ोरी होती है बल्कि शरीर से निकाला गया खून कुछ दिनों के पश्चात नया खून बन जाता है इसीलिए हर साल बहुत सारे खूनदान कैंप लगाए जाते हैं डोनेट किये हुए खून को ब्लड बैंक में जमा कर दिया जाता है जब किसी मरीज को खून की जरूरत पड़ती है तो उसे ब्लड बैंक से निकालकर दे दिया जाता है।

इसीलिए कहा गया है के खूनदान महादान है क्योंकि डोनेट किया गया खून किसी मरीज की जान बचाता है इसीलिए हम सभी को रक्तदान अवश्य करना चाहिए।

14 जून को विश्वभर में रक्तदान दिवस मनाया जाता है। इस दिन देशभर में रक्तदान कैंप लगाये जाते हैं यहां पर ज्यादातर लोगों को खून दान के लिए जागरूक किया जाता है और लोग खूनदान करते हैं।

Must Read :

(Visited 2,130 times, 3 visits today)

Filed Under: Hindi EssayTagged With: Essay on Blood Donation in Hindi

रक्त मानव शरीर का एक प्रकार का तरल पदार्थ है, जो शरीर के कोशिकाओ / cells को आवश्यक पोषक तत्व और प्राणवायु / oxygen पहुचाने का काम करता है और कोशिकाओ से खराब पदार्थ को शरीर से बाहर निकलने का कार्य करता है। रक्त की कमी के कारण देश भर में हर साल लाखो लोगो की मृत्यु हो जाती है।

आंकड़ो के अनुसार देश में हर साल 4 करोड़ यूनिट खून की आवश्यकता होती है, पर मुश्किल से 40 से 50 लाख यूनिट रक्त ही Blood Donation द्वारा एकत्रित हो पाता है। हर 2 सेकंड में किसी न किसी को रक्त की जरुरत होती है और ऐसे में हर दिन 38000 रक्तदाताओ / Blood Donor की जरुरत है, लेकिन Blood Donation को लेकर समाज में फैली भ्रांतियों और जागरूकता के अभाव में लोग Blood donate करने के लिए आगे नहीं आते है।


Blood Donation के प्रति जागरूकता फ़ैलाने के लिए और समाज में Blood Donation को लेकर जो भ्रान्तिया है उसे दूर करने के लिए, रक्तदान / Blood Donation के बारे में विस्तृत जानकारी निचे दी गयी है :

The Gift of BLOOD is Gift of LIFE...!!

Blood Donation की जरुरत क्यों है ?Blood Donation in Hindi

  • रक्त जीवन रक्षक है ! अब तक किसी ऐसी मशीन का शोध नहीं लगा है जो की कृत्रिम रक्त तैयार कर सके। किसी रक्तदाता / Blood donor द्वारा Blood Donation करने पर ही रक्त की कमी या जरुरत को पूरा किया जा सकता है। 
  • हर साल करोडो लोगो को रक्त की जरुरत होती है पर कुछ लाखो नसीबवालो को ही रक्त मिल पाता है। 
  • Sickle Cell  के मरीज को कई बार Blood Donation की जरुरत पड़ती है। 
  • अकेले एक Car Accident में ही 100 यूनिट रक्त की जरुरत पड सकती है।  
  • एक बार  Blood Donation कर आप 3 लोगो की जिंदगी बचा सकते है। 
  • अगर आप 18 साल की उम्र से 60 साल की उम्र तक हर 90 दिन बाद Blood Donation करते है, तो लग भग 30 gallon Blood Donate कर चुके होंगे जो की 500 लोगो की जान बचा सकता है। 
  • भारत में सिर्फ 7% लोगो का  Blood group 'O Negative' है। 'O Negative' Blood Group को Universal Donor भी कहते है। किसी भी  Blood group के लोगो को 'O Negative' Blood Group का रक्त दिया जा सकता है। Emergency के समय या नवजात बालक जिनका Blood Group पता न हो, ऐसे समय 'O Negative' रक्त बहुत उपयोग में आता है। 
  • भारत में सिर्फ 0.4 % लोगो का Blood group 'AB' होता है। इस Blood group के Plasma का उपयोग किसी भी Blood group के लोगो को emergency में लगा सकते है। 
  • कई प्रकार के operation, emergency या बीमारी में  Blood Transfusion की जरुरत पड़ती है। अगर पर्याप्त मात्रा में समय पर रक्त न मिले तो रोगी व्यक्ति को काफी तकलीफ हो सकती है और उनकी मृत्यू भी हो सकती है। 

Blood Donation कैसे किया जाता है ?

एक औसत व्यक्ति के शरीर में 10 यूनिट  (5 से 6 लीटर) रक्त मौजूद होता है। Blood Donation के समय सिर्फ 1 यूनिट रक्त ही लिया जाता है।  Blood donation की प्रक्रिया काफी सरल है और इसमें डरने की ज़रा भी जरुरत नहीं है। Blood donation किस तरह किया जाता है इसकी जानकारी निचे दी गयी है :
  • सबसे पहले आपका Registration होता है। आपका नाम, उम्र, पता इत्यादि जानकारी ली जाती है। 
  • आपकी Medical history ली जाती है। 
  • आपका Mini-physical परिक्षण किया जाता है जिसमे आपका Blood pressure, Pulse, Weight, Temperature के बाद Blood group और Hemoglobin level की जाँच की जाती है। 
  • Blood donation करने योग्य पाए जाने पर आपको Blood donation कक्ष में टेबल पर लिटाया जाता है। आप के हाथ में एक निर्जन्तुक सुई (sterile needle) द्वारा 1 यूनिट खून 10 से 15 मिनिट में लिया जाता है। 
  • Blood donation करने के बाद, एक बार फिर से आपका  Blood pressure और Pulse परिक्षण किया जाता है। 
  • आपके रूचि अनुसार Blood donation के बाद आपको चाय-बिस्कुट या कोल्ड ड्रिंक दिया जाता है। 
  • Blood Donation के बाद १/२ घंटे तक वाहन न चलाए।  
  • आपको आपका Blood group card और Blood Donation Certificate भी दिया जाता है।        
Blood Donation कौन कर सकता है ?

अगर आप निचे दिए गए श्रेणी में आते है तो आप Blood Donation कर सकते है।
  • आपकी उम्र 18 से 60 साल के बिच है।  
  • आपका वजन (Weight) 45 Kg या उससे ज्यादा है। 
  • आपकी Pulse Rate 50 से 100 / min के बिच होनी चाहिए। 
  • शरीर का तापमान / temperature 99.5°F से कम होना चाहिए। 
  • Diastolic Blood Pressure 100 mm/Hg से कम होना चाहिए।   
  • Systolic Blood Pressure 160 mm/Hg से कम होना चाहिए।   
  • रक्त में Hemoglobin (Hb) की मात्रा 12.5 gm/dl से ज्यादा होना चाहिए।  
  • पुरुष 90 दिन और महिलाए 120 दिन बाद दोबारा Blood Donation कर सकते है। 
  • आप स्वस्थ है और आपको मलेरिया, टाइफाइड, हेपेटाइटिस इत्यादि संक्रामक बीमारी नहीं है या काफी समय से नहीं हुई है।   

" वे युवा बधाई के पात्र है जिन्होंने अपने रक्त से जीवनदान दिया है एवं जो दे सकते है ! "

Blood Donation कौन नहीं कर सकता है ?

अगर आप निचे दिए गए श्रेणी में आते है तो आप Blood Donation नहीं कर सकते है।

  • पिछले Blood Donation के समय काफी चक्कर या थकावट महसूस की हो। 
  • अगर आपको बार-बार Blood Donate किया हो। 
  • मासिक रक्तस्त्राव के समय Blood Donation से परहेज करे .
  • आप को कोई drug addiction या व्यसन हो। 
  • 24 घंटे के भीतर शराब का सेवन किये हुए व्यक्ति। 
  • कई लोगो (High risk individual) के साथ शारीरिक सम्बन्ध होना या वेश्यागमन किया है । 
  • आप HIV Positive है या आप में AIDS के निचे दिए गए लक्षण मौजूद है। जैसे की :
  1. बेवजह वजन कम होना / Unexplained weight loss 
  2. रात के समय काफी पसीना आना। 
  3. शरीर या मुंह में नीले, जामुनी या लम्बे समय से सफ़ेद दाग या धब्बे होना। 
  4. गर्दन / बगल या शरीर के किसी हिस्से में लम्बे समय से गांठ (swollen lymph node) होना।     
  5. बार-बार बीमार होना या 99.5°F से ज्यादा का बुखार आना। 
  6. 1 महीने से ज्यादा समय तक दवा लेने के बाद भी दस्त / loose motions की तकलीफ ठीक न होना। 
  7. HIV antigen / antibody test Positive आना। 
  • आप कुछ बीमारी या विशेष अवस्था में कुछ समय तक रक्तदान / Blood donation नहीं कर सकते। इस क़ि जानकारी निचे तालिका में दी गयी है :

                   Disease

Postpone Blood Donation Period

Jaundice

1 year

Malaria

3 months

Dog Bite / Rabies vaccination

1 year

Abortion

3 months

Pregnancy - Till duration of pregnancy

1 year

Breast feeding

1 year after delivery

History of blood transfusion

6 months

Major Surgery

6 months

Minor surgery

3 months

Immunization - Typhoid,Diptheria,Tetanus

15 days

Immunoglobulin injections

12 months

Tatoo / Ear piercing

6 months

Dental extraction

72 hours

Drugs - Antibiotic / steroid / aspirin

72 hours

Respiratory tract infection

After recovery and 1 week after last dose of antibiotic

Tuberculosis (TB)

After 2 years of completion or course

Chicken Pox

After 1 year

  • कुछ प्रकार की दवाइया लेने के बाद भी आप Blood Donation नहीं कर सकते है। इसकी जानकारी निचे तालिका में दी गयी है :
 

                   Drugs

Postpone Blood Donation Period

Etreinate - used to treat Psoriasis

Not allowed to donate for lifetime

Finasteride – used to treat BPH

1 month after last dose

Isotretionoin – used to treat acne

1 month after last dose

Aspirin

72 hours after last dose

Contraceptive pills

Can donate anytime

Thyroxine

Can donate anytime

Human growth hormone

Not allowed to donate for lifetime

Taking regular parenteral drugs like Insulin

Not allowed to donate for lifetime

  • निचे दी गई बीमारी से ग्रसित लोग Blood donation नहीं कर सकते है। 
  1. कर्क रोग / Cancer
  2. ह्रदय रोग / Heart Disease
  3. मधुमेह के मरीज जो लगातार Insulin के injection  ले रहे है
  4. संक्रामक पीलिया / Infectious Hepatitis 
  5. किडनी की बीमारी / Chronic Nephritis 
  6. कुष्ठ रोगी / Leprosy 
  7. मिरगी / Epilepsy 
  8. Liver की बीमारी 
  9. AIDS रोगी 

" स्वेच्छा से रक्तदान कीजिए क्योंकि आपके द्वारा किया गया रक्तदान, 

किसी को जीवनदान दे सकता है ! "


Blood Donation करने के फायदे :
  • Research से यह पता चला है की, Blood Donation करने से Heart Attack और Cancer होने की आशंका कम हो जाती है। शरीर में cholesterol की मात्रा घटती है। 
  • Blood Donation करना Weight loss करने वालो के लिए भी फायदेमंद है। एक बार Blood Donation करने पर लगभग 650 calories खर्च हो जाती है। 
  • Blood Donation करने से जरुरत से ज्यादा की Iron level की मात्रा कम हो जाती है। बहुत ज्यादा Iron level होना भी रक्तवाहिनियो के लिए नुक्सानदेह होता है। 
  • Blood Donation करने वालो में ह्रदय रोग की आशंका 33% कम हो जाती है। 
  • मानव शरीर Blood Donation के रूप में किए गए रक्त की मात्रा की पूर्ति 24 घंटे में और कोशिकीय भाग की पूर्ति 1 से 2 माह के अन्दर पूरा कर लेता है। इससे शरीर की कार्यक्षमता और रोग प्रतिकार शक्ति बढती है। 
  • Blood Donation करने से अस्थि मज्जा / Bone marrow सक्रीय बना रहता है, जो रक्त निर्माण में साहायक होता है। Blood Donation करने से शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया में तेजी आती है।  
  • नियमित रक्तदाता में रक्त बनने की क्षमता उम्र के बढ़ने पर भी लगभग सामान्य बनी रहती है। 
  • Blood Donation के वक्त आप का मुफ्त में physical जाँच और laboratory जाँच भी होती है। 
  • Blood Donation कर के आप किसी को पुनर्जीवन प्रदान करते है। आप सिर्फ एक जिंदगी नहीं बल्कि उनसे जुडी कई अन्य जिंदगियो की भी मदद करते है। Blood Donation कर हम कई जिंदगीया बचाने का पुण्य कार्य करने का मौक़ा मिलता है। 
  • Blood Donation से शरीर पर कोई कुप्रभाव नहीं पड़ता है और न ही किसी प्रकार की हानि होती है। 
  • Blood Donation / रक्तदान महादान है !! यह दान करने पर मिलनेवाली ख़ुशी और संतोष को शब्दों में बया नहीं किया जा सकता है।  

मेरी आप सभी से प्रार्थना है की, आज ही Blood Donation / रक्तदान करने का संकल्प ले और किसी जरूरतमंद की सहायता करने की हर संभव कोशिश करे। आप जरुरत पड़ने पर  Blood Donation करने के लिए निचे दिए गए विकल्प चुन सकते है। 

  1. अपने शहर के Blood Bank में अपना नाम, पता, Blood group और Mobile number दर्ज करे ताकि किसी व्यक्ति को खून की जरुरत के समय आपसे संपर्क हो सके। 
  2. आपके Family Doctor के पास अपना नाम, पता, Blood group और Mobile number दर्ज करे ताकि किसी व्यक्ति को खून की जरुरत के समय आपसे संपर्क हो सके। 
  3. आप अपने अपने मित्रो या रिश्तेदारों के साथ मिलकर अपने society में या Whatsapp, Facebook और Google Plus पर Blood Donor group बना सकते है।   
  4. आप कुछ online websites पर अपना नाम register करा सकते है। जैसे की friends2support , srkrc , bloodhelpers 

Donate Blood ! Save a Life !!

Image courtesy : Sailom at FreeDigitalPhotos.net

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !

Categories: 1

0 Replies to “Essay On Blood Donation In Hindi”

Leave a comment

L'indirizzo email non verrà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *